Home / Home Remedies / How to Stop Sleep Talking(नींद में बोलना)-Home Remedies in Hindi
How to Stop Sleep Talking in Hindi
How to Stop Sleep Talking in Hindi

How to Stop Sleep Talking(नींद में बोलना)-Home Remedies in Hindi

Ways to Stop Sleep Talking

नींद में बात करना (Talk in your Sleep) एक सामान्य नींद विकार है। जो सभी उम्र के पुरुषों और महिलाओं को प्रभावित करता है। हालांकि यह बच्चों में सोते हुए बात करना (Child Talking in Sleep) विशेष रूप से आम है। हमने बहुत विशेषयज्ञ से बात की इस बीमारी के बारे में, बहुत से लोगो के यही प्रश्न होते है कि :

Why do I Sleep Talk?
My Son Talks in his Sleep?
Kids Talking in their Sleep?
Do Babies Talk in their Sleep?
Do Babies Talk in their Sleep?

आपको या आपके प्रियजनों भी जब नींद में सो रहे होते है. तो इन समस्याओं का सामना कर सकते हैं।

How to Stop Talking in your Sleep

यदि आपको लगता है कि आप नींद में बात कर रहे हैं, तो अपने चिकित्सक या अन्य नींद विशेषज्ञ से व्यक्तिगत मेडिकल सलाह लेने से पहले निचे दिए गए उपायों का इस्तमाल करके जरूर देखे।

नींद में बात करना (Sleep Talking Every Night) एक ऐसी समस्या है जिसमे व्यक्ति को नींद के दौरान वार्ता या आवाज़ आती (Talking to Someone in their Sleep) है। बहुत से डॉक्टर बताते है कि नींद में बोलने वाले व्यक्ति इस मुद्दे से अनजान होता है। नींद में बात करना काफी आम समस्या है। खासकर बच्चों में (Talking to Someone in their Sleep), और इसे कोई गंभीर चिकित्सा समस्या नहीं माना जाता है।

Home Remedies or Remedies for Sleep Talking

आइये आज हम नींद की समस्या को खत्म करने वाले कुछ घरेलू उपाए जानेगे।

पर्याप्त नींद लीजिये

विशेषयज्ञ का कहना है, “नींद में बात करने वाली समस्या अधिक सामान्य तब होती है, जब आप नींद से वंचित होते है।” “नियमित रूप से पर्याप्त आराम प्राप्त करना नींद की गंभीरता और इस समस्या को कम करने में मदद कर सकता है।”

तनाव का कम करे

डॉक्टर के मुताबिक तनाव, आपकी नींद को बढ़ाने के साथ साथ नींद में बात करने की समस्या (Reasons for Sleep Talking) दोनों को बढ़ता है। नतीजन, नींद में बात करने की समस्या से मुकाबला करने के लिए आपको तनाव का स्तर कम रखना चाहिए।

रात को शराब पिने से बचें

“सोने के करीब शराब पीने से नींद आने में समस्या आती है और नींद में बात करने की समस्या पैदा हो सकती है। डॉक्टर भी सलाह देते है कि नींद में बात करने वाले व्यक्ति को शराब का सेवन सीमित करना सहायक हो सकता है।

चिकित्सक से परामर्श लें

हालांकि सोते हुए बात करना खतरनाक नहीं है। लेकिन यह भी संभव है कि यह नींद में बात करने की समस्या का साइड इफेक्ट हो सकता है। अगर आपको यह संदेह है कि आपकी नींद में बोलना वाली समस्या गंभीर है और अपके साथी को प्रभावित करती है, तो और अधिक उपचार के बारे में एक डॉक्टर से बात करें।

देर रात खाना छोड़ें

सोते समय से पहले भोजन करना – खासकर ज्यादा मात्रा में भोजन खाना – आपकी नींद को बाधित करने के साथ साथ नींद में बोलने की समस्या भी पैदा कर सकते है। सोते समय से कम से कम चार घंटे पहले खाये। चाय और काफी के सेवन से बचें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Big Boss is Watching !!