Home / Health Benefits / गुर्दे की पथरी को कैसे निकालें – Kidney Stone Treatment in Hindi
Kidney Stone Treatment in Hindi

गुर्दे की पथरी को कैसे निकालें – Kidney Stone Treatment in Hindi

Kidney Stone Treatment in Hindi – गुर्दा की पथरी (Kidney Stone) Patient के लिए डाइट चार्ट (Diet Chart ) का पालन करना अति आवश्यक है। गुर्दा की पथरी (Kidney Stone) गुर्दे में बहुत सख्त खनिज जमा होने के कारण  होती हैं। वे एक छोटे सूक्ष्म कण (microscopic particle) की तरह शुरू होती हैं और कुछ समय बाद पत्थरी में विकसित होती हैं। गुर्दा की पथरी (Kidney Stone) तब बनती हैं जब आपका मूत्र अत्यधिक एकत्र होता है। एकाग्रता के इस स्तर के कारण मूत्र में खनिज और अन्य अस्थायी कण क्रिस्टल जो समय के साथ ठोस कण में और बाद में एक पत्थर में बदल जाते हैं। गुर्दा की पथरी (Kidney Stone) को खोजना आसान नहीं है, क्योंकि इसका पता लगाने के लिए कोई संकेत या लक्षण नहीं हो सकता है।

गुर्दा की पथरी (Kidney Stone) के होने से बहुत दर्द होता है जब यह मूत्राशय को तोड़ने और आगे बढ़ने की कोशिश करती है। पथरी (Stone) शरीर से बाहर आने का प्रयास करती है जो दर्द का कारण बनता है। यदि पथरी (Stone) बड़ी होती है तो यह मूत्र के प्रवाह में बाधा पैदा कर सकती है जिसके कारण दबाव होता है। इस दबाव में बहुत ज्यादा दर्द होता है।

शरीर में पाए जाने वाले विभिन्न प्रकार के पथरी – Different Types of Stones

  • कैल्शियम स्टोन्स (Calcium Stones) शरीर में पाए जाने वाले सबसे आम पथरी में से एक है। मूत्र में अतिरिक्त कैल्शियम के कारण इन पथरी का गठन होता है।
  • यूरिक एसिड स्टोन (Uric Acid Stone) लगभग 10% रोगियों में पाया जाता है। पाचन के कारण यूरिक एसिड (uric acid) का उत्पादन होता है। यदि एसिड का स्तर एक निश्चित स्तर से अधिक तक पहुंच जाता है या उत्सर्जित होता है, तो यह भंग नहीं हो सकता है जिसके परिणामस्वरूप यूरिक एसिड स्टोन (Uric Acid Stone) का गठन होता है।
  • स्ट्रोवेट स्टोन्स (Struvite Stones) को संक्रमण की पथरी कहा जाता है। ये तब विकसित होते हैं जब मूत्र पथ के संक्रमण रासायनिक असंतुलन की ओर बढ़ते हैं, जिससे बैक्टीरिया को तेजी से फैलाने और इन पत्थरों में विकसित करने में सक्षम हो जाता है।
  • सिस्टीन स्टोन्स (Cystine Stones) एक सबसे पुरानी पथरी में से एक हैं जो कि बहुत ही काम मात्रा में व्यक्तियों में पाए जाते हैं। यह एक अमीनो एसिड (amino acid) है, जो एक पथरी बनाने के लिए मूत्र में बनाया गया है। वंशानुगत रोग, सिस्टीन की पथरी का कारण बनता है।

सिस्टीन स्टोन्स का इलाज (Cystine Stones Treatment) सर्जरी से है। ये पथरी (Stone) को हटाने के कुछ तरीके हैं :

  • एक्स्ट्राकोरोरियल शॉक वेव लिथोट्रिप्स (ईएसडब्ल्यूएल) – Extracorporeal shock wave lithotripsy (ESWL)
  • पीसीएन (पर्कुट्यूनेट नेफोलिथोटोमी-लिथोट्रिप्स) – PCN (percutaneous nephrolithotomy-lithotripsy)
  • एंडोरालॉजी (एन्डोस्कोपिक हटाने या हेरफेर) – Endourology (endoscopic removal or manipulation)
  • पैराथियरीड सर्जरी – Parathyroid surgery
  • यूरेट्रोस्कोपिक पथरी हटाने – Ureteroscopic stone removal
  • ओपन सर्जरी – Open surgery

Kidney Stone ke Gharelu Upay in Hindi – Home Remedies

अपने नियमित जीवन में इनमें से कुछ चीजों से परहेज करके आप पूरी तरह सर्जरी के बिना पथरी (Stone) से छुटकारा पा सकते है:

  • अपने स्वास्थ्य की अच्छी देखभाल करके।
  • कम से कम 8-10 गिलास पानी पीना।
  • खुद को चिकित्सक के पास मासिक आधार पर जाँच के लिए जाना।
  • पथरी (Stone) को रोकने के लिए अपनी दवा लेना।
  • पथरी (Stone) ख़त्म होने पर फिर से उत्पन्न हो सकती है इसलिए सावधान रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Big Boss is Watching !!