Home / Disease Symptoms / Women, Male Urine Infection Problems Home Remedies in Hindi
Urine Infection Home Remedies in Hindi
Urine Infection Home Remedies in Hindi

Women, Male Urine Infection Problems Home Remedies in Hindi

मूत्र मार्ग संक्रमण (Urinary Tract Infection) के लिए घरेलू उपाय (Home Remedies)

Urine Infection Causes in Hindi (यूरिन इन्फेक्शन के कारण) – Reason of Urine Infection in Hindi

UTI Infection in Hindi- मूत्र मार्ग में बैक्टीरिया का आक्रमण UTI (मूत्र मार्ग संक्रमण) का कारण बनता है। बैक्टीरिया मूत्रमार्ग के उद्घाटन (opening) से प्रवेश करते हैं और मूत्र मार्ग में आगे बढ़ते हैं। UTI के कुछ कारणों में यौन संबंध (sexual intercourse), कई यौन साझेदारों (multiple sexual partners ) और बहुत लंबे समय तक मूत्र रखने का समावेश है। मूत्र मार्ग संक्रमण (Urinary Tract Infection) बहुत दर्दनाक हो सकता है। अगर समय पर इलाज नहीं किया जाता है, यह गुर्दे तक भी फैल सकता है, जिससे गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं (health problems) हो सकती हैं।

Urine Infection in Women in Hindi | Urine Infection in Females in Hindi | Urine Problem in Male in Hindi

यद्यपि यह बीमारी दोनों लिंगों के सदस्यों को प्रभावित कर सकती है, लेकिन महिलाएं (urine infection in women) इसके लिए अधिक संवेदी हैं।

UTI Infection Symptoms in Hindi – (यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण)

मूत्र मार्ग संक्रमण (Urinary Tract Infection) के कुछ आम लक्षण (symptoms):

  • पेशाब के दौरान सनसनी जलन महसूस होना
  • पेशाब की लगातार इच्छाशक्ति
  • मूत्र में रक्त – urine me blood aana
  • बुखार
  • उल्टी
  • मतली
  • पीठ दर्द
  • पसलियों के नीचे दर्द

Urine Infection Treatment in Hindi – Gharelu Upchar (Home Remedies)

Uterus Infection Treatment in Hindi | Urine Infection Gharelu Upchar in Hindi | Urine Infection Treatment in Hindi | Urine Infection Solution in Hindi | Urine Infection Treatment Hindi

निम्नलिखित पंक्तियों में, हमने Urine Infection (यूरिन इन्फेक्शन) के उपचार के लिए कुछ बेहतरीन घरेलू उपचार (Home Remedies) प्रदान किए हैं।

  • बेकिंग सोडा (Baking soda) मूत्र मार्ग संक्रमण (Urinary Tract Infection Treatment) के इलाज में प्रभावी है।
  • आठ औंस (eight ounce) का गिलास पानी में, 1/2 चम्मच बेकिंग सोडा जोड़ें। यह अच्छी तरह से मिलाएं और इसे पीएं।
  • एक दिन में बहुत अधिक पानी पीएं, क्योंकि इससे शरीर के अवांछित पदार्थों (unwanted substances) को कम करने और बाहर निकलने में मदद मिलेगी।
  • क्रैनबेरी रस (cranberry juice) पीने से मूत्र मार्ग संक्रमण (Urinary Tract Infection) का इलाज करने का एक और प्रभावी तरीका है। जिन लोगों को शुद्ध क्रैनबेरी रस नहीं मिल सकता है, उन्हें सेब का रस (apple juice) एक विकल्प होता है।
  • चंदन (sandalwood), बर्गमोट (bergamot), चाय के पेड़, लोबान (frankincense) और जुनेपर तेल (juniper oil) के बराबर अनुपात मिलाएं। तीन से चार दिनों तक पेट के निचे के क्षेत्र में इस तेल के साथ मालिश करे।
  • पिप्सिसेवा (pipsissewa), बुचू (buchu), एक्चेंसेआ (echinacea) और उर्वे र्सी टिंचर्स (urva ursi tinctures) के बराबर भागों को मिलाएं। पहले दो दिनों इस मिश्रण के 20 बूंदों, हर दो दो घंटे बाद लीजिये और उसके बाद इस मिश्रण का 1 चम्मच, चार बार एक दिन में।
  • Urine Infection (यूरिन इन्फेक्शन) के लिए एक अन्य उपयोगी उपाय पानी में नीले बैंगन की पत्तियों को उबालना है। काढ़े को ठंडा करें और एक दिन में दो बार सेवन लें।
  • पानी में कुछ धनिया के बीज (coriander seeds) उबालें। काढ़े को ठंडा करें और एक दिन में दो बार पीएं। इससे आपका मूत्र प्रवाह (urine flow) बढ़ जाएगा।
  • गाजर के बीज (seeds of carrot) मूत्र मार्ग संक्रमण (Urinary Tract Infection) के उपचार में उपयोगी होते हैं। इसे आप या तो एक जलसेक के रूप में या एक काढ़े के रूप में लिया जा सकता है।
  • पानी की एक कटोरी में, कमल के कुछ पंखुड़ियों (petals of lotus) को डालकर के साथ गुलाबी गुलाब को उबाल लें। यह ठंडा होने के बाद इस का सेवन दिन में तीन बार करे।
  • चमेली पौधे (Chameli plant) का काढ़ा मूत्र मार्ग संक्रमण (Urinary Tract Infection) का इलाज करने में सहायक होता है। पानी की एक कटोरी में, चमेली संयंत्र डालकर उसे उबाल लें। इसे ठंडा करने के बाद इसे एक बार हर रोज पीएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Big Boss is Watching !!