Home / Disease Symptoms / (माइग्रेन) Symptoms, Causes – Gharelu Nuskhe for Migraine in Hindi
Gharelu Nuskhe for Migraine in Hindi
Gharelu Nuskhe for Migraine in Hindi

(माइग्रेन) Symptoms, Causes – Gharelu Nuskhe for Migraine in Hindi

What is Migraine in Hindi

Migraine Meaning in Hindi- माइग्रेन (Migraine), गंभीर सिरदर्द को दिया जाने वाला नाम है। सामान्यतः माइग्रेन 4 से 72 घंटे तक रहता है। इसमें मुख्य रूप से सिर के एक क्षेत्र में स्पंदन या धड़कता हुआ महसूस होता है। माइग्रेन (Migraine) के दौरान, रक्त वाहिकाओं (blood vessels) का संकुचन (contraction) या फैलाव (dilation) होता है।

Migraine Symptoms in Hindi | Migraine Meaning in Hindi | Migraines During Pregnancy | Symptoms of Migraine in Hindi Language

माइग्रेन के कारण – Migraine Causes in Hindi

कुछ कारक जो माइग्रेन (Migraine) के हमले की चिंता की और संकेत करते है:

  • तनाव
  • भोजन की कमी
  • नींद की कमी
  • प्रकाश के संपर्क में आने पर समस्या होना
  • हार्मोनल परिवर्तन (महिलाओं में)

महिलाओं में, मासिक धर्म में माइग्रेन (Migraine) का भी परिणाम हो सकता है।

Migraine ka ilaj in Hindi | Migraine ke Lakshan in Hindi | what is Migraine in Hindi | Migraine Treatment in Hindi

Migraine Pain Symptoms (लक्षण) – Migraine ke Lakshan in Hindi

  • सिर के एक तरफ दर्द
  • अवसाद की एक छोटी अवधि
  • चिड़चिड़ापन
  • भूख की हानि
  • मतली
  • उल्टी के साथ-साथ हाथ या पैर या चेहरे के एक तरफ में सुन्नता या कमजोरी पर दर्द होना

हालांकि, स्वाभाविक रूप से घरेलू उपचार (Migraine Treatment at Home) का उपयोग करके इस गंभीर सिरदर्द को ठीक किया जा सकता है। माइग्रेन (Migraine) के उपचार के कुछ प्राकृतिक तरीके जानने के लिए पढ़ें।

Migraine Causes in Hindi | Migraine Treatment in Ayurveda in Hindi | Migraine Headache in Hindi | Migraine Headache Treatment at Home

माइग्रेन के लिए गृह उपाय – Gharelu Nuskhe for Migraine in Hindi

  • ताजा अंगूर के रस (fresh grape juice) की मदद से माइग्रेन (Migraine) का प्रभावी ढंग से इलाज किया जा सकता है। रस निकालने के लिए अंगूर को पीस लें। पानी को जोड़े बिना रस को पिए।
  • Niacin (vitamin B3)- नियासिन (विटामिन बी 3) का सेवन बढ़ाएं, क्योंकि यह माइग्रेन (Migraine) दर्द को कम करने में सहायक साबित हुआ है। नियासिन में समृद्ध पदार्थों (foods) में से कुछ खमीर (yeast), पूरे गेहूं (whole wheat), हरी पत्तेदार सब्जियां (green leafy vegetables), टमाटर (tomatoes), नट्स (nuts), सूरजमुखी के बीज (sunflower seeds), यकृत (liver) और मछली (fish) हैं।

Gharelu Nuskhe for Migraine in Hindi | Yoga for Migraine Headaches in Hindi | Migraine ka Gharelu Upchar in Hindi | Migraine ka Gharelu Ilaj in Hindi

  • गोभी के पत्ते (Cabbage leaves) माइग्रेन के दर्द से राहत (Migraine Headache Treatment) में सहायक होते हैं। गोभी के पत्ते पीस ले और उन्हें एक कपड़ा में रख ले। कुछ समय के लिए अपने माथे पर यह कपड़ा रखें। जब बार गोभी की पत्तियां शुष्क हो जाएंगी, कपड़े को हटा दें और फिर से एक ताजा गोभी के पत्ते को पीसे।
  • माइग्रेन (Migraine) का सिरदर्द हल करने में नींबू का छीलका (Lemon peel) उपयोगी है। पेस्ट बनाने के लिए नींबू के छिलके को पीसकर माथे पर लागू करें। इसे सूखने दे और फिर ठंडा पानी लेकर धो ले।
  • गाजर का रस (carrot juice) का मिश्रण, पालक (spinach), बीट (beet) या ककड़ी के रस (cucumber juice) के साथ, माइग्रेन (Migraine) का इलाज करने में प्रभावी ढंग से काम करता है। 300 मिलीलीटर गाजर का रस (carrot juice) किसी भी अन्य रस के 200 मिलीलीटर के साथ मिलाएं और इसे पीएं।
  • आप 300 मिलीलीटर गाजर के रस (carrot juice) के साथ 100 मिलीलीटर प्रत्येक बीट (beet) और ककड़ी का रस (cucumber juices) मिश्रण कर सकते हैं और इसे नियमित आधार पर पी सकते हैं।
  • मूंगफली का तेल (primrose oil) के साथ माथे पर मालिश करने से माइग्रेन का इलाज (Migraine ka Gharelu Ilaj) करने में लाभ होता है। यह एक बहुत ही उपयोगी घरेलू उपचार (Home Remedies for Migraine) के रूप में काम करता है।

Migraine Pain Symptoms in Hindi | Migraine Headache Treatment in Hindi | Migraine Pain Treatment in Hindi

  • अपने आहार में लहसुन (garlic) शामिल करें या तो कच्चे रूप में लहसुन का एक टुकड़ा चबाना या अन्य खाद्य पदार्थों के साथ मिलाएं।
  • एक अन्य प्रभावी तरीका कैमोमाइल चाय (chamomile tea) का सेवन होगा। यह माइग्रेन (Migraine) की घटना को कम करने में प्रभावी है।
  • गुनगुना पानी एनीमा (lukewarm water enema) लेना प्रभावी है। यह आंत को साफ करता है, जिससे शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालने और माइग्रेन (Migraine) को रोकने में मदद करता है।
  • कुछ चंदन का पाउडर (sandalwood powder) ले लें और पानी की कुछ बूंदें डाल दें, ताकि पेस्ट का निर्माण कर सकें। इस पेस्ट को माथे पर लागू करें और इसे सूखा दें। एक बार सूख जाये, तो हाथ से रगड़ो और इसे धो लें।
  • माइग्रेन से पीड़ित रोगी (Migrane Patient) को सीधा धूप से बचने के लिए सलाह दी जाती है। धूम्रपान और शराब पीने से बचे, क्योंकि ये सब माइग्रेन (Migraine) को बढ़ा सकता है।

Migraine Treatment at Home in Hindi | Home Remedies for Migraine in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Big Boss is Watching !!