Home / Disease Symptoms / पीलिया Jaundice ke Lakshan, Piliya Treatment, Pilia Diet in Hindi
Jaundice Treatment at Home in Hindi
Jaundice Treatment at Home in Hindi

पीलिया Jaundice ke Lakshan, Piliya Treatment, Pilia Diet in Hindi

Piliya, Jaundice or Pilia Disease in Hindi

पीलिया (Jaundice) सबसे लोकप्रिय जिगर विकार में से एक है। पीलिया (Jaundice) की पहचान त्वचा का पीला पड़ने और आंखों को सफेद दिखने से होता है। शरीर में वर्णक बिलीरुबिन (pigment bilirubin) के उच्च स्तर के कारण यह होता है।

Causes of Piliya, Jaundice or Pilia

पीलिया (Jaundice) के प्रमुख कारण में हेमोलिटिक एनीमिया (hemolytic anemia), पित्त नलिकाओं (bile ducts) में रुकावट (blockage), तीव्र हेपेटाइटिस (acute hepatitis), अग्नाशयी कैंसर (pancreatic cancer) और मादक यकृत रोग (alcoholic liver disease) है।

Jaundice Symptoms in Hindi | Jaundice ke Lakshan in Hindi | Pilia Disease Symptoms in Hindi

Jaundice , Piliya or Pilia Jaundice Symptoms in Hindi

अति कमजोरी (Extreme weakness), सिरदर्द (headache), बुखार और यकृत क्षेत्र (liver region) में एक सुस्त दर्द, पीलिया के कुछ लक्षण (symptoms for jaundice) हैं। पित्त (Bile), एक पाचन तरल पदार्थ, पोषण के लिए आवश्यक है। आंत में प्रवेश करने से रोका जाने पर, इससे गैसों में वृद्धि हो जाती है।

पढ़िए Jaundice Diet, Jaundice Diet in Hindi – पीलिया (Jaundice), हालांकि, कुछ घरेलू उपचार (home remedies) का उपयोग करने पर निपटा जा सकता है। निम्नलिखित पंक्तियों में, हम पीलिया (Jaundice) का इलाज करने के कुछ प्राकृतिक तरीके (natural Remedy) प्रदान करते हैं।

Ayurvedic Medicine for Jaundice in Hindi | Piliya Treatment in Hindi | Jaundice Treatment at Home in Hindi

पीलिया के लिए घर उपाय – Jaundice Treatment at Home in Hindi

  • एक कपडे के माध्यम से तेज़ और फैलाए हुए कड़वा लफ्फा (bitter luffa) के रस को निकालें। हथेली पर रस ले लो और धीरे धीरे इसे सूंघना शुरू कीजिये। रस नाक के माध्यम से खींचा जाना चाहिए।
  • मूली की हरी पत्तियां भी प्रभावी घरेलु उपाय (effective home remedy) हैं। पत्तियों का रस निकालें। रोजाना इस रस का कम से कम एक पाउंड लें।
  • एक और प्रभावी उपाय, एक केले को मैश करना होगा और इसमें शहद का बड़ा चमचा जोड़ना होगा। यह मिश्रण एक दिन में दो बार सेवन करो।
  • छाछ के एक गिलास में, काली मिर्च का एक चुटकी मिलाएं। हर रोज इसे एक सप्ताह के लिए लो।
  • एक गिलास पानी के साथ 4 ग्राम भारतीय काजू लें। लगभग लगभग तीन दिनों में यह तीन बार करो।
  • उबलते पानी के एक कप में, 8-10 नींबू के पत्ते जोड़ें। लगभग 5 मिनट के लिए इसे ढक्कन के साथ कवर करें। अब इसे पी लीजिये। इसे 4-5 दिनों के लिए दोहराएं।
  • एक कप पानी ले लो और इसे उबाल लें। इसे में अजवायन की पत्ती के 2 चम्मच जोड़ें और इसे 10 मिनट के लिए छोड़ दें। अब इसे फ़िल्टर करें और पी लीजिये।
  • छाछ के एक गिलास में, भुना हुआ एलियम (roasted alum) की एक चुटकी जोड़ें। इसे 2-3 बार एक दिन में नियमित रूप से लीजिये।
  • एक गिलास गर्म पानी में 1/4 चम्मच हल्दी पाउडर मिलाएं। इसे एक दिन में 2 से 3 बार सेवन करें।
  • पपीता के पत्तों को लें और इसका पेस्ट बनाये। 1 चम्मच शहद के साथ इस पेस्ट का आधा चम्मच खाएं।
  • पीलिया (Jaundice) से पीड़ित व्यक्ति के लिए नींबू का रस (lime juice लेना फायदेमंद है।
  • 1/2 चम्मच अदरक का रस और 1 चम्मच टकसाल का रस और नींबू का रस मिलाएं। कुछ घंटों के अंतराल के बाद यह मिश्रण का सेवन कीजिये।
  • सुबह में शुरुआती समय में टमाटर के रस का गिलास लें। पीने से पहले, कुछ नमक और काली मिर्च इसमें जोड़ें।
  • आधे से एक कप बीट्रोटस रस (beetroot juice) में आधा नींबू दबाएं। यह पीलिया (Jaundice) के इलाज के लिए एक प्रभावी उपाय (effective remedy) है।
  • गाजर के रस (carrot juice) का एक गिलास हर रोज लेना भी फायदेमंद है।
  • तेलों, तला हुआ भोजन, मक्खन, हल्दी, मसालेदार भोजन, अचार और खट्टा उत्पादों से बचें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Big Boss is Watching !!