Home / Being Mother / Pregnancy me Vomiting ka ilaj – How to Stop Vomiting in Pregnancy
Vomiting During Pregnancy Treatment in Hindi - Pregnancy me Vomiting ka ilaj
Vomiting During Pregnancy Treatment in Hindi - Pregnancy me Vomiting ka ilaj

Pregnancy me Vomiting ka ilaj – How to Stop Vomiting in Pregnancy

गर्भावस्था में उल्टी (Vomiting in Pregnancy) से निपटने के घरेलू उपाय (Home Remedies)

Pregnancy me Vomiting ka ilaj- माँ बनने की खबर शायद हर स्त्री के जीवन की सबसे बड़ी और खुशनुमा खबर होती है | सभी अपेक्षाकृत माँए जीवन में एक प्रसन्नता महसूस करती हैं पर गर्भावस्था में उल्टी और मितली आने से यह खबर थोड़ी फीकी पड़ जाती है |

गर्भावस्था महिलाओं में उल्टी और मितली (Nausea) आना सबसे आम समस्या है यह लगभग 65% महिलाओं को प्रभावित करती है। कुछ महिलाओं को किसी भी लक्षण का सामना नहीं करना पड़ता है, जबकि कुछ सुबह में बीमार महसूस करती हैं और दोपहर के भोजन से ठीक हो जातीं हैं और कुछ महिलाएं दिन के अंत तक बीमार महसूस करती हैं।

Medicine for Vomiting During Pregnancy- दवा लक्षणों से राहत प्रदान करती है पर गर्भावस्था में दवा एक हद तक ही मदद करती है इसलिए इस समस्या को शांत करने के लिए कई प्राकृतिक घरेलू उपचारों (Natural Home Remedies) का प्रयोग करना पड़ता है |

Pregnancy me Vomiting ka ilaj

How to Stop Vomiting in Pregnancy | How to Stop Vomiting During Pregnancy | Vomiting in Pregnancy
Vomiting During Pregnancy Home Remedies | Vomiting During Pregnancy
Pregnancy Vomiting Treatment Home

1) औषधिक चाय

अदरक का एक कप पीने से सुबह की उल्टी के लक्षण कम हो सकते हैं अदरक पेट के लिए बहुत ही अच्छा होता है और यह जड़ीबूटी राहत पाने में आपकी सहायता करती है इसलिए जब कभी आपको लगता है कि आपका जी मचल रहा, आप एक कप अदरक वाली चाय पी सकते हैं |

2) खूब सारा पानी

एक दिन में हर घंटे पानी पीए और अगर आप रात को किसी भी कारणवश उठे, एक ग्लास पानी पी के ही सोए | जब आपके मूत्र स्पष्ट हो जाता है तब समझ ले की आप पर्याप्त मात्रा में पानी पी रहे हैं | ध्यान रहे कि आप भोजन के बीच पानी ना ले |

3) अपने भोजन को विभाजित करें

एक दिन में तीन बड़े भोजन करने के बजाय, भोजन को छोटे भागों में विभाजित कर ले | पांच या छह बार अलग – अलग भोजन का आनंद लें। क्योंकि कुछ मामलों में, भूख की पीड़ाएं मतली ला सकती है (यह पेट में खालीपन के कारण होती है और जब पेट के एसिड द्वारा पचाने के लिए कुछ नहीं होता है)

4) रसभरी के पत्तों की चाय

उल्टी और मितली की बीमारी का इलाज करने के लिए एक और अच्छा उपाय लाल रसभरी पत्ती की चाय का एक कप है। इस जड़ीबूटी को गर्भाशय की मांसपेशियों को आराम देने के साथ सुबह की बीमारी के लक्षणों को कम करने के लिए अच्छा माना जाता है। क्योंकि इसका इस्तेमाल करने से पहले कुछ अध्ययन अनिवार्य होते है इसलिए इसे अपने चिकित्सक की सलाह से ही ले |

5) नींबू की सुगंध

यदि आपको कोई इत्र की सुगंध से मतली का अनुभव हो रहा है तो उसे दूर रहे और कुछ राहत पाने के लिए नींबू के टुकड़े को सूंघने की कोशिश करें या आप नींबू के रस और पानी का मिश्रण भी पी सकते हैं।

How to Conceive, Pregnant with a Baby Boy Naturally in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error: Big Boss is Watching !!